देश के विभाजन के समय भी दिखी थी जलियांवाला बाग जैसी विभीषिका : मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने जलियांवाला बाग स्मारक के पुनर्निर्मित परिसर को शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राष्ट्र को समर्पित किया। इस अवसर पर उन्होंने स्मारक में ‘संग्रहालय दीर्घाओं’ का भी उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि मासूम बालक -बालिकाओं, बहनों-भाइयों के सपने आज भी जलियांवाला बाग की दीवारों पर अंकित गोलियों के निशान में दिखते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वो शहीदी कुआं, जहां अनगिनत माताओं-बहनों की ममता छीन ली गई, उनका जीवन छीन लिया गया, उन सभी को आज हम याद कर रहे हैं।