समुद्र में और बढ़ेगी भारत की ताकत, नौसेना को मिली चौथी स्कॉर्पीन पनडुब्बी ‘वेला’

फ्रांस के सहयोग से मुंबई के मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) में किया गया है निर्माण

senani.in || डिजिटल डेस्क

भारतीय नौसेना को परियोजना-75 की चौथी पनडुब्बी वेला मंगलवार को सौंपी गई। परियोजना-75 के तहत कुल छह स्कॉर्पीन पनडुब्बियों का निर्माण होना है। इन पनडुब्बियों का निर्माण फ्रांस के मेसर्स नेवल ग्रुप के सहयोग से मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) में किया जा रहा है।

06 मई, 2019 को पनडुब्बी ‘वेला’ का जलावतरण किया गया था। इसने कोविड प्रतिबंधों के बावजूद हथियार और सेंसर परीक्षणों सहित सभी प्रमुख पत्तन और समुद्री परीक्षणों को पूरा कर लिया है। इन पनडुब्बियों में से तीन कालवरी, खंडेरी और करंज पहले से ही भारतीय नौसेना के अभियान में शामिल हैं।

गुणवत्ता पर विशेष जोर

पनडुब्बी निर्माण एक जटिल प्रक्रिया है, क्योंकि इसमें सख्त गुणवत्ता की जरूरत वाले सभी उपकरणों को छोटा करने की आवश्यकता होती है। इससे पनडुब्बी निर्माण में कठिनाइयां बढ़ जाती हैं। इन पनडुब्बियों का निर्माण ‘आत्मनिर्भर भारत’ की दिशा में एक और कदम है। जल्द ही इस पनडुब्बी को भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा व भारतीय नौसेना की क्षमता को और बढ़ाया जाएगा।

Leave a Reply