Nalanda News : संगठित प्रयास ने दिखाया रंग : देश में 100 करोड़ टीकाकरण के साथ नालंदा जिला भी पहुंचा संक्रमणमुक्ति की कगार पर

जिलाधिकारी और सिविल सर्जन ने संक्रमित होने के बावजूद किया नेतृत्व, कोरोना वैक्सीनेशन की गति नहीं पड़ने दी धीमी

जिला स्वास्थ्य समिति के जिला कार्यक्रम प्रबंधक ज्ञानेन्द्र सिंह ने कोरोना टीकाकरण का शत-प्रतिशत लक्ष्य पाने के लिए कर दिया दिन-रात एक

senani.in
अविनाश पांडेय || बिहारशरीफ

एक वक्त था, जब लोगों में कोरोना टीकाकरण को लेकर कई तरह की भ्रांतियां थीं। लोग आगे बढ़कर टीका लेने से कतरा रहे थे, लेकिन आज देश ने न सिर्फ सौ करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा पार कर लिया है, बल्कि अभियान को गति देते हुए पूरा देश शत-प्रतिशत टीकाच्छादन की तरफ अग्रसर है।

सौ करोड़ टीकाकरण के बारे में नालंदा के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि यह उपलब्धि जितनी गौरवमयी है, उतनी ही चुनौतीपूर्ण हमारा विगत 20 महीनों का सफर रहा है। इस दौरान कोरोना से संक्रमित होकर हमारे कई साथियों से हमारा साथ छूटा, फिर भी हमारा हौसला नहीं टूटा।

20 अक्टूबर तक लगाई 19.17 लाख वैक्सीन की डोज

टीके की उपलब्धता, टीकाकरण को लेकर सामुदायिक भ्रांतियों एवं सीमिति संसाधनों जैसी तमाम चुनौतियों को पीछे छोड़ते हुए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के सभी आला अधिकारियों से लेकर तमाम कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स के अथक प्रयास और सहयोग से 20 अक्तूबर की शाम तक नालंदा जिले ने 19 लाख 17 हजार 415 टीकाकरण का आंकड़ा पार कर लिया है। इसमें से पहली डोज के लाभार्थी 13 लाख 53 हजार 943 तथा दूसरी डोज के 5 लाख 63 हजार 472 लाभार्थी हैं।

…जब जिलाधिकारी और सिविल सर्जन ने संक्रमित होने के बावजूद जारी रखी सेवा

योगेंद्र सिंह, जिलाधिकारी, नालंदा
डॉ. सुनील कुमार, सिविल सर्जन, नालंदा

डॉ. चौधरी ने बताया कि इस लंबे दौर में ऐसा भी क्षण आया, जब जिलाधिकारी योगेन्द्र सिंह और सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार संक्रमितों की सेवा करते हुए स्वयं भी संक्रमित हो गए। इसके बावजूद उन्होंने अपनी सेवा जारी रखी। इन दोनों अधिकारियों के मजबूत नेतृत्व का ही परिणाम है कि कोरोना से संबंधित सेवाओं के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग की अन्य सेवाएं भी चलती रहीं।

छठ तक नालंदा के सभी पात्रों को कोरोना की पहली डोज देने का लक्ष्य : सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार ने देश में सौ करोड़ टीकाकरण का डोज पूरा होने पर खुशी जताते हुए कहा, नालंदा के लिए भी यह उत्सवी माहौल से कम नहीं है। इसलिए जिले के 20 प्रखंडों के 9 टू 9 टीका केंद्रों को बैनरों और पोस्टरों से सजाया जा रहा है। बहुत जल्दी नालंदा जिला भी संपूर्ण रूप से टीकाकृत हो जाएगा। इसी उद्देश्य से जिला स्वास्थ्य विभाग आगामी छठ पूजा तक पहले डोज से वंचित सभी व्यक्तियों को टीकाकृत करने के लिए प्रयास कर रहा है, ताकि उसके बाद हमारी टीम कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने पर पूरा ध्यान दे सके।

ज्ञानेन्द्र सिंह ने जिले में शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए किए हर संभव प्रयास

ज्ञानेंद्र सिंह, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला स्वास्थ्य समिति

जिला स्वास्थ्य समिति के जिला कार्यक्रम प्रबंधक ज्ञानेन्द्र सिंह ने जिले का टीकाकरण लक्ष्य पूरा करने को अपना पहला उद्देश्य बना लिया है। उनका कहना है जिम्मेदार नागरिक के साथ-साथ एक स्वास्थ्यकर्मी होने की वजह से कोरोना के खिलाफ उनकी जिम्मेदारी दोहरी हो जाती है। इसलिए कोविड टीकाकरण से जुड़े सभी विभागीय निर्देशों को जिले में शत-प्रतिशत पूरा करने का प्रयास करते हैं। पूजा पंडालों के पास टीकाकरण, 9 टू 9 टीकाकरण, टीका एक्सप्रेस, विशेष टीकाकरण अभियान, महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था, सेकेंड डोज के लिए अलग से टीकाकरण काउंटर की व्यवस्था, पोलियो अभियान की तर्ज पर डोर-टू-डोर टीकाकरण अभियान जैसी हर नई पहल पर न सिर्फ पूरा ध्यान रखते हैं, बल्कि उससे जुड़े कर्मचारियों, उपकरणों, कोरोना टेस्टिंग और प्रतिदिन के टीकाकरण के आंकड़ों या टीकाकरण से जुड़ी किसी भी समस्या पर भी पैनी नजर है, ताकि समय पर उसका समाधान उपलब्ध करा सकें। ज्ञानेन्द्र सिंह कहते हैं कि आज नालंदा जिले में कोरोना वैक्सीनेशन के आंकड़े को देखकर काफी संतोष होता है। उच्चाधिकारियों के निर्देशन और कर्मचारियों के सहयोग से हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

Leave a Reply