दुश्मन की पनडुब्बियों से दागे गए टॉरपीडो की दिशा बदल देगा एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक रक्षा सूट

महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स लिमिटेड से 1,350 करोड़ में 14 एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक रक्षा सूट की खरीद के लिए रक्षा मंत्रालय का अनुबंध, नौसेना की क्षमता में होगी भारी वृद्धि

senani.in || डिजिटल डेस्क

रक्षा मंत्रालय (एमओडी) ने नई दिल्ली में 1,349.95 करोड़ रुपये की लागत से 14 एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक (ASW) रक्षा सूट (आईएडीएस) की खरीद के लिए महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स लिमिटेड के साथ अनुबंध किया है। एक भारतीय फर्म के साथ अनुबंध रक्षा खरीद की ‘खरीदें और बनाएं (भारतीय)’ श्रेणी के तहत भारत के ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम है। यह प्रौद्योगिकी विकास और उत्पादन में स्वदेशी रक्षा उद्योग को एक बड़ा प्रोत्साहन प्रदान करता है। यह प्रणाली भारतीय नौसेना की पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमता को बढ़ाएगी।

इसलिए महत्वपूर्ण यह यह डील

आईएडीएस में दुश्मन की पनडुब्बियों और टॉरपीडो का विस्तारित रेंज में पता लगाने के साथ-साथ दुश्मन पनडुब्बियों द्वारा दागे गए टॉरपीडो की दिशा को परिवर्तित करने की एकीकृत क्षमता होती है। रक्षा मंत्रालय ने केंद्र सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ पहल को बढ़ाने के अपने संकल्प और घरेलू रक्षा उद्योग के माध्यम से कई उपकरणों को शामिल करने के साथ उन्नत प्रौद्योगिकियों में ‘आत्मनिर्भर’ बनने के देश के संकल्प को प्रदर्शित करना जारी रखा है।

Leave a Reply