पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की स्थिति चिंताजनक, पीजीआई में भर्ती

सांस लेने में तकलीफ होने पर पूर्व सीएम को सोमवार शाम नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर पर किया गया शिफ्ट

senani.in || डिजिटल डेस्क

लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में भर्ती उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की हालत एक बार फिर गंभीर हो गई है। डॉक्टरों का कहना है कि उनके सारे पैरामीटर नियंत्रण में हैं, लेकिन जितनी तेजी से स्वास्थ्य में सुधार होना चाहिए, वह नहीं हो रहा है।

संस्थान के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन ने बताया कि सोमवार शाम सांस लेने में तकलीफ होने पर पूर्व सीएम को नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया। सीसीएम, कार्डियोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी और एंडोक्रिनोलॉजी के विशेषज्ञ उनके स्वास्थ्य से जुड़े तमाम पहलुओं पर नजर रखे हुए हैं। सेप्सिस नियंत्रित करने के लिए एंटीबायोटिक और एंटी फंगल दवाएं चल रही हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की फ़ाइल फोटो

घर के सदस्य अस्पताल में मौजूद

संस्थान का यह भी कहना है कि सोमवार रात उनकी स्थिति मंगलवार की अपेक्षा ज्यादा नाजुक हो गई थी। उनके बीपी को नियंत्रण करने के लिए भी दवाएं दी जा रही हैं। यूरिन संबंधी दिक्कतों को दूर करने के लिए दवाएं चल रही हैं। मंगलवार सुबह से उनका बीपी नियंत्रण में है। अन्य पैरामीटर भी नियंत्रण में हैं। मगर, वह पहले की तरह रिस्पांस नहीं कर पा रहे हैं। किसी से बात भी नहीं कर पा रहे हैं। हां, यह जरूर है कि वह आंखें खोल रहे हैं। आईसीयू स्टाफ व परिवारजन संकेतों से उनका हाल-चाल पूछ रहे हैं। मगर, कई बार वह आंखें खोलते हैं और फिर बंद कर लेते हैं। परिवार के ज्यादातर सदस्य अस्पताल में मौजूद हैं। डॉक्टरों का यह भी कहना है कि जिस हिसाब से पूर्व सीएम की स्थिति में सुधार आना चाहिए, वह नहीं हो रहा है। संस्थान निदेशक का कहना है कि वह खुद भी समय-समय पर राउंड लेकर पूर्व सीएम के स्वास्थ्य पर नजर रखे हुए हैं।

चार जुलाई को एसजीपीजीआई में कराए गए थे भर्ती

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम कल्याण सिंह को स्वास्थ्य खराब होने पर चार जुलाई की शाम को एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया था। राम मंदिर आंदोलन के नायक रहे कल्याण सिंह के स्वास्थ्य को लेकर भाजपा संगठन के साथ ही केंद्र और राज्य सरकार भी चिंतित हैं। स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डॉक्टरों को उनके बेहतर से बेहतर इलाज के लिए निर्देशित कर चुके हैं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पीजीआई पहुंचकर कल्याण सिंह से मिल चुके हैं। उत्तर प्रदेश के सीएम अब तक दो से तीन बार संस्थान पहुंचकर उनका हाल ले चुके हैं।

Leave a Reply