अब घर बैठे सेना के सेवानिवृत्त विशेषज्ञ डॉक्टरों से मुफ्त पाएं गंभीर बीमारियों का इलाज

ई-संजीवनी पोर्टल पर राष्ट्रीय रक्षा ओपीडी का शुभारंभ, देशभर के लोग उठा सकेंगे लाभ

उत्तर प्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड में ट्रायल सफल रहने के बाद केंद्र सरकार की सराहनीय पहल

senani.in || डिजिटल डेस्क

कोरोना की दूसरी लहर के कारण देश के लगभग सभी सरकारी और बड़े निजी अस्पतालों के डॉक्टर कोविड मरीजों के उपचार में लगे हैं। दूसरी कई बीमारियों की ओपीडी सेवाएं बंद हैं। इसके चलते कोरोना से इतर दूसरी बीमारियों के इलाज के लिए मरीज परेशान हैं। इसको देखते हुए केंद्र सरकार ने ई-संजीवनी पोर्टल पर राष्ट्रीय रक्षा ओपीडी की शुरुआत 14 मई से पूरे देश के लिए कर दी है।

अभी तक यह सेवा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और राजस्थान के लोगों के लिए ही उपलब्ध थी। सबसे बड़ी बात ये है कि इस ऑनलाइन सेवा का लाभ मरीज निःशुल्क उठाएंगे।

सेवानिवृत्ति के बाद भी देश और समाज की सेवा के लिए आए आगे

साइट पर लॉगिन करना भी है बेहद आसान

विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को देखते हुए पूर्व और वयोवृद्ध रक्षा चिकित्सक ई-संजीवनी मंच पर निःशुल्क ऑनलाइन परामर्श प्रदान करने के लिए आगे आए हैं। इससे देश के नागरिकों के लिये अनुभवी और पेशेवर रक्षा चिकित्सकों का अमूल्य अनुभव उपलब्ध होगा।

केंद्र सरकार का टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म है ई-संजीवनी ओपीडी केंद्र

ई-संजीवनी ओपीडी केंद्र सरकार का प्रमुख टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म है, जो उसके स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के तत्वावधान में सी-डैक, मोहाली द्वारा विकसित किया गया है। यह भारत के सभी नागरिकों के लिए निःशुल्क ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श की सुविधा प्रदान करता है। साथ ही इसमें दवाओं की ऑनलाइन प्रिस्क्रिप्शन की व्यवस्था भी की गई है।

सेवा से जुड़े 85 डॉक्टर

रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार और सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के महानिदेशक एवं सर्जन वाइस एडमिरल रजत दत्ता द्वारा चरणबद्ध तरीके से दिनांक 07 मई 2021 को ‘एक्स-डिफेंस ओपीडी’ का शुभारंभ किया गया था। शुरू में यह सेवा उत्तर प्रदेश के लिए उपलब्ध थी। अधिक संख्या में भूतपूर्व रक्षा स्वयंसेवक डॉक्टरों के जुड़ने के बाद इसे 10 मई को राजस्थान और 11 मई को उत्तराखंड तक विस्तारित किया गया। अब तक 85 वयोवृद्ध रक्षा चिकित्सक पोर्टल पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं और उन्होंने एक हजार से अधिक मरीजों को ऑनलाइन परामर्श प्रदान किया है।

तीन राज्यों में इस सेवा के सफल संचालन के बाद पूर्व रक्षा ओपीडी, जिसका नाम अब रक्षा राष्ट्रीय ओपीडी में बदल दिया गया है। यह सेवा http://www.esanjeevaniopd.in पर उपलब्ध है।

यह है उद्देश्य

केंद्र सरकार के इस मंच पर अनुभवी रक्षा चिकित्सा पेशेवरों की उपलब्धता ने घर पर ही ओपीडी सेवा लेने के लिए लोगों को प्रेरित किया है। सेवानिवृत्त डॉक्टरों के विशाल अनुभव और विशेषज्ञता का देशभर के रोगियों द्वारा अधिकतम उपयोग किया जा रहा है। उम्मीद है कि यह पहल रोगियों को घर के सुरक्षित वातावरण में आवश्यक चिकित्सा सलाह और परामर्श उपलब्ध कराने, अस्पतालों में अनावश्यक यात्राओं से बचने, कोविड से संक्रमित होने और सीमित स्वास्थ्य संसाधनों पर अधिक बोझ बढ़ने का खतरा कम करने की दिशा में लंबा रास्ता तय करेगी।

साइट पर जाने के लिए यहां करें क्लिक

इच्छुक लोग esanjeevaniopd.in पर लॉग इन कर इस अनूठी सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। आप इस आईडी पर क्लिक करके भी साइट तक पहुंच सकते हैं।

Leave a Reply