कोविशिल्ड की पहली डोज लेने वालों को 12 से 16 सप्ताह के बीच लगेगी दूसरी डोज, बिहार में दिशा-निर्देश जारी

समय से वैक्सीन की दूसरी डोज न लेने पर शरीर में एंटीबॉडी का नहीं होगा निर्माण, बनी रहेगी संक्रमण की आशंका

अविनाश पांडेय || बिहारशरीफ

बिहार में लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। इसी बीच केंद्र सरकार द्वारा कोविशिल्ड वैक्सीन की दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के बीच लगाने के आदेश को भी लागू कर दिया गया है।

परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय व राज्य सरकार के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के तहत कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली डोज लेने वालों के लिए दूसरी डोज का अंतराल बढ़ा दिया गया है।

नालंदा के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राममोहन सहाय ने बताया कि जिले में सभी लाभार्थियों को कोविशील्ड की वैक्सीन दी जा रही है। इसके लिए सरकार के निर्देशानुसार पहली डोज के 84 से 112 दिन (12 से 16 सप्ताह) के बीच दूसरी डोज दी जाएगी। हालांकि, जिन लोगों ने दूसरी जगह से को-वैक्सीन का टीका लिया है, वो पूर्व की भांति चार सप्ताह के बाद ही दूसरी डोज लेंगे।

दूसरी डोज लेने में लापरवाही न करें लाभार्थी

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) ने बताया कि टीकाकरण को लेकर सरकार की ओर से जो भी नई गाइडलाइन्स आई हैं, उनसे सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी (एमओआईसी) व टीकाकरण सत्र के संचालकों को अवगत कराया जा चुका है। इसके आधार पर अब नए सत्रों का संचालन किया जाएगा। डीआईओ के अनुसार कई लोग कोरोना टीके की पहली डोज लेने के बाद दूसरी डोज समय पर नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण काल में इस तरह की लापरवाही ठीक नहीं है। उन्होंने पहली डोज ले चुके लाभार्थियों से समय पर दूसरी डोज लेने की अपील की है। ताकि, वह संक्रमण की आशंका से मुक्त रह सकें।

निर्धारित तिथि पर दूसरी डोज अवश्य लें

डीआईओ डॉ. सहाय ने कहा कि जिस केंद्र पर कोरोना टीके की पहली डोज लेंगे, लाभार्थी निर्धारित तिथि पर आकर दूसरी डोज अवश्य ले लें। अगर कोई कोरोना टीके की दूसरी डोज नहीं लेता है तो उसके शरीर के अंदर एंटीबॉडी विकसित नहीं होगी। इसलिए अगर कोरोना की चपेट से पूरी तरह बचना है तो समय पर दूसरी डोज भी अवश्य लें।

टीका लेने के बाद भी नियमों का पालन जरूरी

कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले लेने के बाद भी सावधानी जरूरी है। ऐसा नहीं कि किसी ने कोरोना का टीका ले लिया तो वह पूरी तरह सुरक्षित हो गया। ऐसा तब तक नहीं होगा, जब तक कि सभी लोग टीका नहीं ले लेते। उसके बाद भी टीका लेने वालों को कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा। घर से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाना होगा। भीड़भाड़ से बचना होगा। सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी रखनी होगी। घर में भी बात करते वक्त मास्क लगाना होगा।

क्या हैं केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश

केंद्र सरकार ने कोविशिल्ड टीके की दूसरी डोज अब 12 से 16 हफ्ते में लगाने का निर्णय लिया है। पहले यह डोज छह से आठ हफ्ते में दी जाती थी। इसके अलावा कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले लोग छह माह बाद ही टीका लगवा सकेंगे। केंद्र के नए दिशा-निर्देश के तहत गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी अब टीका लगवा सकेंगी। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) की सिफारिश मंजूर करते हुए ये बदलाव किए हैं।

Leave a Reply