कनाडा में 12 से 15 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन को मंजूरी

इस आयु वर्ग के बच्चों को वैक्सीन की मंजूरी देने वाला दुनिया का पहला देश बना कनाडा

ट्रायल में बच्चों पर सौ फीसद कारगर पाई गई फाइजर कंपनी की वैक्सीन, अमेरिका में भी जल्द शुरू होगा वैक्सीनेशन प्रोग्राम, लगेंगे दो डोज

senani.in, डिजिटल डेस्क

कनाडा में 12 से 15 साल के बच्चों के कोरोना वैक्सीनेशन को मंजूरी दे दी गई है। इसके साथ ही कनाडा ऐसा करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। यहां फाइजर कंपनी का टीका बच्चों को लगाया जाएगा। हर बच्चे को वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी।

जल्द ही जर्मनी की कंपनी बायोएनटेक भी इस आयु वर्ग के बच्चों के लिए वैक्सीन लांच करने वाली है। अमेरिका में भी बच्चों के वैक्सीनेशन को मंजूरी दे दी गई है। इसे जल्द शुरू किया जाएगा।

कनाडा ने सबसे पहले दी मंजूरी

कनाडा के चीफ मेडिकल एडवाइजर सुप्रिय शर्मा के मुताबिक उनके यहां यह पहली वैक्सीन है, जिसे बच्चों को कोविड-19 से बचाने के लिए मंजूरी दी गई है। इस वैक्सीन को ट्रायल में कारगर पाया गया है। सुप्रिय शर्मा के अनुसार दुनिया में सबसे पहले कनाडा ने 12 से 15 वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए फाइजर की वैक्सीन को मंजूरी दी है। ट्रायल के दौरान पता लगा कि वैक्सीन सिप्टोमेटिक मामलों में सौ फीसद तक कारगर है। कंपनी ने शुरुआती ट्रायल के दौरान करीब 2260 बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज दी थी। इसकी दूसरी डोज तीन महीने के अंतराल पर दी गई थी। कनाडा के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जिन बच्चों को टीका लगाया गया है, उनमें से कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया है। इस लिहाज से यह वैक्सीन कारगर है।

Leave a Reply