बिहार के स्कूल, कॉलेजों में भी लगेगी कोरोना वैक्सीन

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बिहार सरकार वैक्सीनेशन में लाएगी तेजी, तीन कमरों का बनेगा टीकाकरण केंद्र

राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने जिलों को जारी किया निर्देश

अविनाश पांडेय/बिहारशरीफ

बिहार में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण अभियान को तेज कर दिया गया है। यहां अब 18 से 44 वर्ष तक के लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है। इस कड़ी में स्वास्थ्य विभाग ने स्कूल व कॉलेजों में टीकाकरण केंद्र बनाने का निर्णय लिया है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने जिलों को पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश भेजे हैं।

जारी पत्र में कहा गया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के सभी लाभार्थियों का सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में निःशुल्क टीकाकरण कराया जा रहा है। इस आयु वर्ग के लाभार्थियों की अत्यधिक संख्या को देखते हुए टीकाकरण सत्र स्थल को कोविड-19 की जांच एवं उपचार किए जा रहे स्वास्थ्य संस्थान परिसर से अलग रखे जाने का निर्णय लिया गया है। टीकाकरण पूर्व से संचालित स्वास्थ्य संस्थानों से अलग सरकारी स्कूल, कॉलेज आदि में आयोजित किया जाना है।

संक्रमण बढ़ते देखकर लिया गया निर्णय

नालंदा के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राममोहन सहाय ने बताया संक्रमण लगातार बढ़ रहा है और इससे सुरक्षित रहने का सबसे सशक्त माध्यम टीकाकरण ही है। सरकार और स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत हैं कि 18 वर्ष से ऊपर के सभी युवाओं और अन्य लोगों को टीका लगाया जाए। इसीलिए स्कूल एवं कॉलेजों में टीकाकरण केंद्र संचालित करने का निर्णय लिया गया है।

टीकाकरण केंद्र को प्रतिदिन किया जाएगा सैनिटाइज

प्रत्येक सत्र स्थल पर कम से कम तीन तीन कक्ष होंगे। पहला कक्ष लाभार्थियों के टीका लेने के लिए प्रतीक्षालय, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए एवं तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी की निगरानी के लिए बनाया जाएगा। पत्र में निर्देशित है कि प्रतिदिन सत्र स्थल को टीकाकरण कार्य प्रारम्भ करने से पूर्व अनिवार्य रूप से सैनिटाइज कराना सुनिश्चित किया जाए। टीकाकरण दल के लिए पर्याप्त संख्या में ग्लब्स, मास्क, सैनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

डीईओ से समन्वय स्थापित करें

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि सरकारी स्कूलों, कॉलेजों में कोविड-19 टीकाकरण सत्र के आयोजन के लिए जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी (डीईओ) से सम्पर्क स्थापित कर आवश्यक सहयोग उपलब्ध प्राप्त करना सुनिश्चित किया जाए। सभी बिन्दुओं के आलोक में लाभार्थिकों का टीकाकरण कराना सुनिश्चित किया जाए।

मेडिकल कचरा निस्तारण का होगा प्रबंध

लाभार्थियों के वेटिंग रूम, अवलोकन रूम में बैठने के लिए कुर्सी, पीने के पानी आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। टीकाकरण के बाद सत्र स्थल पर टीकाकरण जनित कचरों का निस्तारण बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट के दिशा-निर्देश के आलोक में प्रतिदिन कराना सुनिश्चित किया जाएगा।

इन मानकों का पालन कर कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें

-मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें
-लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जांच कराएं
-बिना जरूरत घर से बाहर न निकलें
-साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से हाथ धोएं

Leave a Reply