जज्बे को सलाम : पीपीई किट पहनकर कोरोना मरीजों के बीच पहुंचे नालंदा के डीएम, जाना हाल

विम्स पावापुरी के कोविड वार्ड में एक घंटे रहे डीएम योगेंद्र सिंह, मरीजों से फीडबैक भी लिया

अविनाश पांडेय || बिहारशरीफ

एक तरफ जहां विभिन्न जगहों से अधिकारियों द्वारा कोरोना मरीजों की उपेक्षा और अभद्रता की खबरें आ रही हैं, वहीं दूसरी तरफ बिहार के नालंदा के डीएम योगेंद्र सिंह मानवता की मिसाल बनकर उभरे हैं। वह शनिवार को पावापुरी के वर्द्धमान इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (विम्स) पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पीपीई किट पहनकर संस्थान के कोरोना वार्ड का निरीक्षण किया। वह कोरोना मरीजों के साथ यहां करीब एक घंटे रहे।

एक-एक व्यवस्था का लिया जायजा

निरीक्षण के दौरान डीएम ने एक घंटे घूम-घूमकर कोरोना वार्ड में भर्ती मरीजों से उनका हालचाल जाना तथा अन्य सेवाओं के बारे में फीडबैक ली। साथ ही उपलब्ध व्यवस्थाओं का हाल भी जाना।

दवाओं का पंद्रह दिन का रखें स्टॉक

पावापुरी स्थित वर्द्धमान इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज का भवन। फोटो क्रेडिट : सोशल मीडिया

इसके बाद डीएम ने संस्थान के प्रिंसिपल, प्रभारी अधीक्षक, जिला स्तर से प्राधिकृत वरीय पदाधिकारी सह जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजेश कुमार सिंह, सिविल सर्जन, संस्थान के अन्य चिकित्सक, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर, थाना प्रभारी पावापुरी ओपी सहित अन्य पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इसमें उन्होंने आरटीपीसीआर जांच व्यवस्था की समीक्षा की। इसमें उन्होंने कहा कि संस्थान में मरीजों के लिए कम से कम 15 दिन की दवाइयों का बफर स्टॉक सुनिश्चित किया जाए। ऑक्सीजन के उपयोग के लिए निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ऑक्सीजन की बर्बादी पर नियंत्रण सुनिश्चित करने को कहा। डीएम को बताया गया कि अस्पताल के चौथे तल पर कोविड के कंफर्म मरीजों तथा तीसरे तल पर कोविड के संदिग्ध मरीजों को रखने की व्यवस्था है। संदिग्ध मरीजों में से रिपोर्ट के आधार पर जो कंफर्म पाए जाएंगे, उन्हें चौथे तल पर अविलंब शिफ्ट किया जाएगा।
कोविड वार्ड में तीनों पालियों में प्रतिनियुक्त किए गए चिकित्सकों के विजिट टाइम का रोस्टर वार्ड भी प्रदर्शित कराने का निर्देश डीएम ने गया।

संस्थान में पुलिस पिकेट बनाने के निर्देश

डीएम ने संस्थान परिसर में सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुलिस पिकेट की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर को दिया। संस्थान में सुरक्षा एवं अन्य व्यवस्था को लेकर प्रतिनियुक्त किए गए दंडाधिकारियों की अनिवार्य उपस्थिति सुनिश्चित रखने का भी निर्देश दिया गया।

कोविड रोगियों के लिए अभी 280 बेड, और बढ़ेंगे

समीक्षा बैठक में डीएम को अधिकारियों ने बताया विम्स में कोविड के कन्फर्म एवं संदिग्ध लोगों के लिए बेडों की संख्या निरंतर बधाई जा रही है। अब तक 280 बेड तक की व्यवस्था यहां की जा चुकी है। आगामी तीन-चार दिनों में कुछ और बेड बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply