समाजवादी नेता एवं यूपी के पूर्व मंत्री भगवती सिंह का निधन

मुलायम सिंह यादव के मंत्रिमंडल में विभिन्न मंत्रालय संभालने वाले भगवती बाबू ने 89 वर्ष की अवस्था में ली अंतिम सांस

SENANI.IN || संवाददाता || डिजिटल डेस्क || लखनऊ

भगवती सिंह की फ़ाइल फोटो

समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य और मुलायम सिंह यादव के करीबी भगवती सिंह का रविवार सुबह निधन हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के मंत्रिमंडल में विभिन्न विभाग संभालने वाले भगवती बाबू 89 वर्ष के थे। उन्होंने बक्शी का तालाब स्थित चंद्रभानु गुप्त कृषि महाविद्यालय में अंतिम सांस ली। वह शनिवार को यहां आए थे। रात्रि विश्राम के लिए इसी महाविद्यालय में रुक गए थे। निधन के बाद उनका पार्थिव शरीर लखनऊ की रिवर बैंक कॉलोनी स्थित उनके आवास पर ले जाया गया। उन्होंने अपना शरीर किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू), लखनऊ को दान करने का संकल्प लिया था। इसलिए उनका पार्थिव शरीर केजीएमयू को दान किया जाएगा।

भगवती सिंह का जन्म बक्शी का तालाब (बीकेटी) स्थित अर्जुनपुर गांव में हुआ था। उनके निधन की खबर से प्रदेशभर के समाजवादी नेताओं में शोक की लहर दौड़ गई है। वह अपनी ईमानदारी और सरल व्यक्तित्व के लिए जाने जाते थे। भगवती बाबू का लखनऊ के बक्शी का तालाब क्षेत्र के विकास में अहम योगदान था। उन्होंने न सिर्फ यहां के तीर्थस्थल चंद्रिका देवी धाम का विकास कराया, बल्कि बीकेटी तहसील और चंद्रभानु कृषि महाविद्यालय की भी स्थापना कराई। वह राम मनोहर लोहिया, चंद्रशेखर और राजनारायण के भी करीबी रहे। वह लखनऊ की महोना विधानसभा सीट से पहली बार विधायक चुने गए थे।

अखिलेश यादव ने जताया शोक

भगवती सिंह के निधन पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शोक जताया। साथ ही उनके रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। विभिन्न दलों के नेताओं ने भी उनके आवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply