बहनों ने भाई की कलाई पर बांधी स्नेह की डोर

कोरोना भी नहीं डिगा पाया भाई-बहनों का प्यार, हर तरफ रहा उमंग और उल्लास

बिहार के छपरा जिले के छोटका कवलपुरा गांव में अपने भाई आर्यन को राखी बांधती बहन स्वर्णिमा

senani.in

नई दिल्ली। कोरोना काल में भी भाई-बहन के प्यार का पर्व रक्षाबंधन सोमवार को देश-दुनिया में उत्साह और उल्लास के मनाया गया।

गांव-शहर हर जगह उमंग छाया रहा। बच्चों से लेकर बड़ों तक ने इस पर्व को परंपरागत ढंग से मनाया।

तकनीक ने भी दिया साथ

जो लोग अपने भाई या बहन से दूर थे, तकनीक ने उनको नजदीक ला दिया। बहनों ने वीडियो कॉल किया और भैया ने राखी बांधकर इस पल को हमेशा के लिए कैमरों में कैद कर लिया। यही नहीं, सोशल मीडिया पर राखी बांधने की फोटो शेयर दूसरों से भी खुशियां साझा कीं।

चीनी राखियां बाजार से आउट

चीन की राखियां इस बार बाजार से आउट यानी नदारद रहीं। पूरी तरह मेड इन इंडिया राखियां छाई रहीं। हालांकि, चीनी राखियों की तरह इनमें तड़क-भड़क नहीं रही, लेकिन बच्चों और बड़ों ने देश के खातिर इसको भी सहर्ष स्वीकार किया। साथ ही दिवाली में भी चीनी पटाखों के बहिष्कार का फैसला लिया। दुकानदारों का भी कहना था कि इस बार उन्होंने चीनी राखियां नहीं मंगवाईं।

मिठाई की दुकानों में भीड़ रही कम

कोरोना के कारण इस बार मिठाई की दुकानों पर भीड़ कम रही। कुछ लोगों ने जहां पहले ही मिठाई खरीद ली थी, तो वहीं कुछ लोगों ने घर पर ही मिठाई बनाई। बहुत सारे लोगों ने तो डिब्बाबंद चॉकलेट और मिठाइयां खरीदीं।

सेल्फी विद राखी

जमशेदपुर के बारीगोड़ा में भाई गोलू को राखी बांधती बहन काजल

सेनानी द्वारा आयोजित सेल्फी विद राखी में भी कई भाई बहनों ने अपने फोटो भेजे।

Leave a Reply