अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव का शंखनाद

ट्रंप

3 नवंबर को होंगे राष्ट्रपति चुनाव, 29 सितंबर को दोनों उम्मीदवारों ट्रंप और बिडेन में होगी पहली बहस

senani.in

डिजिटल डेस्क

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 3 नवंबर को होंगे। इस चुनाव के लिए वर्तमान राष्ट्रपति ट्रम्प और उनके प्रतिद्वंदी बिडेन के बीच पहली बहस 29 सितंबर को ओहियो में होगी।

कमिशन ऑन प्रेसिडेंशियल डिबेट्स ने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि क्लीवलैंड की केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी और क्लीवलैंड क्लिनिक इस डिबेट को होस्ट करेंगे।

29 सितंबर को हेल्थ एजुकेशन कैंपस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेट्स के उम्मीदवार और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन के बीच सीधी बहस होगी।

दोनों नेता 15 अक्टूबर को फ्लोरिडा के मायामी में दोबारा आमने-सामने होंगे। तीसरी बहस 22 अक्टूबर को टेनेसी में होगी। राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव तीन नवंबर को होने हैं। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले दोनों उम्मीदवारों में बहस संवैधानिक प्रक्रिया है।

90 मिनट की बहस का होगा सीधा प्रसारण

ट्रंप

उपराष्ट्रपति पद के लिए भी सात अक्टूबर को बहस होगी। सॉल्ट लेक सिटी की यूनिवर्सिटी में होने वाली इस बहस में उपराष्ट्रपति माइक पेंस का मुकाबला डेमोक्रेटिक उम्मीदवार से होगा। अभी बिडेन ने अपने डेप्यूटी के नाम का एलान नहीं किया है। सारी बहसें 90-90 मिनट की होंगी और रात 9 बजे से 10.30 बजे के बीच होंगी। इन सभी बहसों का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

सर्वे में बिडेन से पीछे हैं ट्रंप

करीब एक सप्ताह पहले हुए सर्वे में ट्रंप के बिडेन से पीछे होने की बात सामने आई थी। एबीसी न्यूज/वाशिंगटन के सर्वेक्षण के नतीजे 19 जुलाई को जारी किए गए थे। उसके मुताबिक, बिडेन के पास 54 प्रतिशत और ट्रंप के पास 44 प्रतिशत लोगों का समर्थन है। यह लगातार पांचवां ऐसा नेशनल सर्वे था, जिसमें बिडेन को ट्रंप से 10 या उससे अधिक पॉइंट से आगे दिखाया गया। जून की दूसरी छमाही के बाद से किए गए नौ ऐसे सर्वेक्षणों में से सात में बिडेन दोहरे अंकों में ट्रंप से आगे रहे हैं।

ट्रंप और बिडेन में जुबानी जंग

जो बिडेन

बहस से पहले ही दोनों नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। बीते दिनों, बिडेन ने ट्रंप को पहला नस्लवादी राष्ट्रपति करार दिया था। कोरोना वायरस महामारी को ट्रंप द्वारा चाइना वायरस, वुहान वायरस और ‘कुंग फ्लू कहने के संदर्भ में बिडेन ने यह टिप्पणी की थी।

जवाब में, ट्रंप ने दावा किया कि किसी भी अन्य राष्ट्रपति ने अश्वेत, लैटिनों और एशियाई लोगों के रोजगार के लिए उनके जितना काम नहीं किया है। विशेष रूप से कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर।

Leave a Reply