बांगलादेश के इस तीन सौ साल पुराने काली मंदिर का भारत कराएगा पुनर्निर्माण

प्राचीन काली मंदिर, फोटो क्रेडिट – सोशल मीडिया

नटोर जिले में स्थित है बांग्लादेश के सबसे पुराने मंदिरों में से एक श्रीश्री जय काली माता मंदिर, भारतीय उच्चायुक्त और स्थानीय मंत्री ने निर्माण कार्य का किया शुभारंभ, 97 लाख टका होंगे खर्च

senani.in

डिजिटल डेस्क

बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त रीवा गांगुली दास और आइसीटी डिवीजन के राज्य मंत्री जुनैद अहमद ने सोमवार को उत्तरी बांग्लादेश के नटोर जिले में स्थित 300 साल पुराने काली मंदिर के पुनर्निर्माण कार्य का शुभारंभ किया।

बांग्लादेश में भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारतीय उच्चायुक्त रीवा दास और राज्य मंत्री जुनैद ने सोमवार को नटौर में श्रीश्री जय काली माता मंदिर के पुनर्निर्माण कार्य का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर सांसद शफीकुल इस्लाम और महापौर उमा चौधरी जॉली मौजूद थे।

उच्चायुक्त ने दी जानकारी

इस तीन सौ साल पुराने मंदिर का पुनर्निर्माण भारत सरकार द्वारा कराया जा रहा है। एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये गांगुली ने कहा कि वे बांग्लादेश के सबसे पुराने मंदिरों में से एक के पुनर्निर्माण करवाने के कदम का समर्थन करती हैं।

दोनों देशों में हुआ था एमओयू

यूनाइटेड न्यूज ऑफ बांग्लादेश के अनुसार, लालबाजार में स्थित श्रीश्री जय काली माता मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए एक एमओयू पर 23 अक्तूबर, 2016 को भारत और बांग्लादेश के बीच हस्ताक्षर किए गए थे।

अठारहवीं सदी में हुआ था मंदिर का निर्माण

इस मंदिर का निर्माण अठारहवीं सदी में 300 साल पहले तत्कालीन राज परिवार के दीवान दयाराम रॉय ने कराया था। भारत सरकार इस मंदिर के पुनर्निर्माण पर 97 लाख बांग्लादेशी टका खर्च करेगी। भारत इस क्षेत्र में रामकृष्ण मंदिर के निर्माण समेत कई विकास कार्यों में सहयोग कर रहा है।

Leave a Reply