चुनाव नतीजों पर ट्रंप के बयान ने सबको चौंकाया

बयान से मिले संकेत-चुनाव नतीजों को ठुकरा सकते हैं ट्रंप

senani.in

डिजिटल डेस्क

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनावों में हार की स्थिति पर एक बड़ा बयान देकर सबको चौंका दिया है।

उन्होंने साफ कहा कि पहली बात तो वे हार नहीं रहे हैं और अगर ऐसी कोई स्थिति आती भी है तो वे इस परिणाम को स्वीकार करने के बारे में उसी समय सोचेंगे।

गारंटी देना जल्दबाजी

पर्यवेक्षकों का मानना है कि ट्रंप ने इस बयान के जरिये आगामी राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों को स्वीकार करने की प्रतिबद्धता जताने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि इस तरह की गारंटी देना जल्दबाजी होगा।

सर्वे में पिछड़ रहे ट्रंप

ट्रंप ने एक इंटरव्यू में उन सर्वेक्षणों का उपहास उड़ाया, जिनमें वह डेमोक्रेट नेता जो बिडेन से पिछड़ते दिख रहे हैं। हार से जुड़े एक सवाल पर कहा-‘मुझे देखना है, देखिए… मुझे देखना है। उनका कहना था कि मैं सिर्फ हां नहीं कहने जा रहा हूं। नहीं कहने भी नहीं जा रहा हूं।

सर्वेक्षण नकली

ट्रंप ने कहा कि चुनाव पूर्व कई सर्वेक्षणों में दिखाया जा रहा है कि उनकी लोकप्रियता कम हो रही है और बिडेन बढ़त बना रहे हैं, लेकिन ऐसे सर्वेक्षण गलत हैं। उनका दावा है कि ऐसे सर्वेक्षणों में रिपब्लिकन मतदाताओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा-‘सबसे पहले, मैं हार नहीं रहा हूं क्योंकि ये नकली सर्वेक्षण हैं।

चार साल पहले भी दिया था ऐसा बयान

ट्रंप ऐसा पहली बार नहीं कर रहे हैं। ट्रंप ने चार साल पहले भी ऐसा ही बयान दिया था, जब उनका मुकाबला हिलेरी क्लिंटन से था।

चीन-रूस चुनावों में दखल की कोशिश में : बिडेन

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार जो बिडेन ने कहा कि उन्हें ऐसी खुफिया सूचना मिली है कि रूस, चीन तथा अन्य शत्रु देश नवंबर में होने जा रहे राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप करने की कोशिश कर रहे हैं। बिडेन ने निधि जुटाने के लिए एक डिजिटल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात कही। हालांकि, उन्होंने किसी तरह का कोई सबूत या सटीक जानकारी नहीं दी। उन्होंने कहा-‘मैं अब जानता हूं कि क्योंकि मुझे फिर गोपनीय सूचना मिल रही है। रूस अब भी इसमें लगा हुआ है। वह हमारी चुनाव प्रक्रिया में दखल देने की कोशिश कर रहा है। उनका दावा था कि चीन और अन्य देश भी इसमें लगे हुए हैं। व्हाइट हाउस और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने बिडेन के बयान पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। फोन करने पर बिडेन के प्रवक्ता ने और जानकारी देने से इनकार कर दिया। साथ ही, बिडेन ने फिर आरोप लगाया कि ट्रंप डाक विभाग का वित्त पोषण रोकने की कोशिश कर सकते हैं ताकि वे मतपत्रों से चुनाव न करा सकें।

Leave a Reply