अमेरिकी कोरोना वैक्सीन का पहला ह्यूमन ट्रायल सफल, 27 जुलाई से शुरू होगा फाइनल परीक्षण

महामारी से परेशान दुनिया के लिए अच्छी खबर, 45 वॉलिंटियर्स को दिया गया इंजेक्शन, एंटीबॉडी बनाने में रही सफल

senani.in

डिजिटल डेस्क

कोरोना के कारण निराशा भरे माहौल में अमेरिका से अच्छी खबर आई है। यहां के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मोडर्ना में तैयार की जा रही वैक्सीन का 45 लोगों पर पहला ह्यूमन ट्रायल पूरी तरह सफल रहा है।

अमेरिकी सरकार के प्रमुख इंफेक्शसस डिजीज एक्सपर्ट डॉ एंथोनी फॉसी के सहयोगियों द्वारा विकसित की जा रही इस वैक्सीन का 27 जुलाई से 30 हजार लोगों पर अंतिम परीक्षण शुरू होगा।

डॉ फॉसी ने बताया कि इस वैक्सीन से मरीजों के इम्यून सिस्टम में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला है। यह वैज्ञानिकों की उम्मीदों पर पूरी तरह खरी उतरी है। डॉ फॉसी ने इसे गुड न्यूज बताया है। मार्च में 45 वॉलिंटियरों को इस वैक्सीन की डोज दी गई थी।

वैक्सीन की दौड़ में हैं कई देश

कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने की दौड़ में कई देश शामिल हैं। इस्राइल और ब्रिटेन में जहां वैक्सीन ट्रायल फाइनल स्टेज में पहुंच गया है, वहीं रूस ने इसी हफ्ते बताया था कि उसके यहां बन रही वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल पूरा हो चुका है।

भारत की वैक्सीन सबसे पहले 15 अगस्त को होगी लांच

दुनियाभर में वैक्सीन बनाने की चल रही होड़ के बीच भारत की वैक्सीन सबसे पहले लांच होने की उम्मीद है। भारत की वैक्सीन का भी एनिमल ट्रायल पूरा हो चुका है। आईसीएमआर के निर्देशन में बनाई जा रही इस वैक्सीन को अगले माह 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर लांच किए जाने की संभावना है।

दुनियाभर में एक करोड़ 32 लाख से ज्यादा लोग हो चके संक्रमित

चीन के वुहान से फैली इस बीमारी से दुनियाभर में एक करोड़ 32 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसके अलावा पौने छह लाख लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। भारत में भी 14 जुलाई तक 9 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इस बीमारी से सबसे ज्यादा अमेरिका प्रभावित हुआ है, जहां इस बीमारी से अब तक 35 लाख 45 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि एक लाख 39 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक इस बीमारी के इलाज के लिए कोई प्रभावी दवाई या वैक्सीन नहीं बनाई जा सकी है। हालांकि, इसके लिए पूरी दुनिया में शोध चल रहा है। कई जगह वैक्सीन निर्माण अंतिम चरण में पहुंच चुका है।

Leave a Reply