भारत माता के जयकारों के बीच विदा हुए गलवान घाटी के शहीद गणेश हांसदा

पैतृक गांव कसाफलिया में राजकीय सम्मान के साथ गणेश हांसदा पंचतत्व में विलीन, लोगों में चीन की कायराना हरकत के खिलाफ दिखा जबरदस्त गुस्सा

संवाददाता, जमशेदपुर

भारत-चीन बॉर्डर पर गलवान घाटी में वीरगति को प्राप्त हुए बहरागोड़ा के शहीद गणेश हांसदा का पार्थिव शरीर शुक्रवार को उनके पैतृक गांव कसाफलिया में राजकीय सम्मान के साथ लाया गया। रांची से शहीद का पार्थिव शरीर हेलीकॉप्टर से बहरागोड़ा आया। पहले शहीद के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक निवास पर रखा गया, जहां लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किए।

नेता और अधिकारी पहुंचे श्रंद्धाजलि देने

शहीद को सांसद जमशेदपुर विद्युतवरण महतो, उपायुक्त रविशंकर शुक्ला, वरीय पुलिस अधीक्षक एम तमिल वाणन एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

भाई ने दी मुखाग्नि

भारत माता के जयकारों के बीच विदा हुए गलवान घाटी के शहीद गणेश हांसदा

इसके बाद शहीद की अंतिम यात्रा निकली, जिसमें पूरे प्रदेश से सैकड़ों लोग शामिल हुए। बड़ी संख्या में अधिकारी, पुलिस और सेना के जवान तथा जिले के प्रमुख लोग इसमें शामिल हुए। शहीद को मुखाग्नि उनके भाई ने दी। इस अवसर पर सेना के जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी दी।

Leave a Reply