ऑनलाइन कवि सम्मेलनों के जरिये लोगों को जागरूक कर रहीं कवयित्री अंकिता

देशभर की प्रमुख संस्थाओं ने उत्कृष्ट कार्य के लिए दिया सम्मान पत्र

संवाददाता, जमशेदपुर

लॉकडाउन में पिछले दिनों देशभर के साहित्यकारों की ओर से ऑनलाइन कवि सम्मेलनों का आयोजन फेसबुक के मध्यम से किया गया। आने वाले महीनों में भी इस तरह के आयोजन होते रहेंगे, क्योंकि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सरकार मंचों पर कार्यक्रम की अनुमति नहीं देगी।

ऑनलाइन कवि सम्मेलनों में जमशेदपुर की कवयित्री अंकिता सिन्हा को देश की कई ख्यातिप्राप्त साहित्यिक संस्थाओं से बेहतर प्रस्तुति पर 23 सम्मान पत्र मिले हैं। कवि सम्मेलनों में काव्य पाठ के अलावा अंकिता ने फेसबुक पेज और पोर्टल पर लाइव आकर अपनी कविताओं के जरिये इस महामारी से बचाव के लिए लोगों के बीच जागरूकता अभियान भी चलाया।

इन साहित्यिक संस्थाओं ने किया सम्मान

भारतीय लघु कथा विकास मंच से अंकिता सिन्हा को कोरोना योद्धा सम्मान 2020 दिया गया। इसी तरह साहित्य सागर हौसलों की उड़ान सम्मान, फेसबुक लाइव में दो सम्मान, कृष्ण कलम मंच से श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान, अखिल भारतीय अग्निशिखा मंच से ऑनलाइन काव्य सम्मेलन प्रशस्ति पत्र, अग्रसर हिन्दी साहित्य सम्मान पत्र, साहित्य मित्र मंडल से प्रशस्ति पत्र, ऑल इंडिया हिन्दी-उर्दू एकता ट्रस्ट से साहित्य अलंकार सम्मान, साहित्य साधक सम्मान, साहित्य सृजन सम्मान, इंकलाब काव्य शिरोमणि सम्मान पत्र, इंकलाब राष्ट्र गौरव आदि सम्मान पत्र मिले।

कोरोना पर फेसबुक लाइव

अंकिता सिन्हा ने फेसबुक पर लाइव आकर झारखंड हिन्दी साहित्य संस्कृति मंच, धीरज शर्मा की कलम से, बिहार बिग न्यूज, कवि पीडिया, काव्य मंच, सुर साहित्य, आपन भोजपुरी से काव्य पाठ के साथ-साथ कोरोना से बचाव के लिए लोगों में जागरूकता अभियान चलाया।

आनेवाले कार्यक्रम

अंकिता सिन्हा 14 जून की सुबह फेसबुक पर साहित्यिक सांस्कृतिक शोध संस्था, मुंबई उत्तर प्रदेश मंडल ऑफ अमेरिका (कैलिफोर्निया) राष्ट्रीय सिंधी भाषा विकास परिषद, भारत संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक दिवसीय सेमिनार भाग-6 में रामकथा पर विश्वव संदर्भ कार्यक्रम में भाग लेंगी।

Leave a Reply